सिलीगुड़ी से 4 करोड़ की कोकीन और 20 हजार याबा टैबलेट सहित दो गिरफ्तार

0
143

सिलीगुड़ीः सिलीगुड़ी के प्रधाननगर थानांतर्गत एक होटल में छापेमारी कर एसटीएफ की टीम ने 4 किलोग्राम कोकीन और 20 हजार याबा टैबलेट जब्त कर लिया। वहीं इसकी तस्करी के आरोप में पुलिस ने दो तस्करों को गिरफ्तार कर लिया। चुनाव के पूर्व मादक पदार्थों की तस्करी पर रोक को लेकर मुश्तैद एसटीएफ की टीम ने ड्रग्स की रोकथाम को लेकर काफी सतर्कता बरत रही है। पिछले एक वर्ष में मादक पदार्थों की सबसे बड़ी खेप जब्त करने का दावा एसटीएफ की टीम कर रही है।
एसटीएफ टीम के अधिकारियों ने बताया कि जब्त कोकीन ड्रग्स का मूल्य 4 करोड़ रुपये तथा और याबा टैबलेट का 10 रुपये आंका गया।
दोनों युवकों से पूछताछ के बाद एसटीएफ के अधिकारियों ने उसे पुलिस को सौंप दिया। दोनों को एनडीपीएस एक्ट की धारा 21(सी) और 22(सी) के तहत गिरफ्तार कर सिलीगुड़ी महकमा अदालत में पेश किया गया जहां अदालत ने दोनों की जमानत याचिका खारिज करते हुए उन्हें 8 दिनों की पुलिस रिमांड पर भेज दिया।
प्रधाननगर थाना सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार गिरफ्तार दोनों तस्कर शिव कुमार (26) तथा एम नटराजन (57) क्रमशः बिहार व तामिलनाडु के निवासी हैं। जानकारी मिली है कि दोनों मादक पदार्थों को मणिपुर से सिलीगुड़ी लेकर आये थे। प्रधाननगर के एक होटल में दोनों ने आश्रय लिया था। वहां संभवतः दोनों किसी अन्य तस्कर को ड्रग्स सौंपने वाले थे।
एसटीएफ के एसपी सुदीप भट्टाचार्य ने कहा कि दोनों नशे के बड़े कारोबारी हैं। इन दोनों का कनेक्शन दूर दूर तक फैला है। मणिपुर से नशीले पदार्थो को सिलीगुड़ी लाकर यहां बेचने की योजना थी। प्राथमिक तौर पर एसटीएफ का अनुमान है कि सिलीगुड़ी ही नहीं बल्कि पड़ोसी राज्य बिहार तथा तामिलनाडु में भी इस गिरोह के लोग सक्रिय है। मणिपुर से ही उन दोनों का पीछा किया जा रहा था। वहीं प्रधाननगर पुलिस सूत्रों ने बताया कि नशे के कारोबारियों के तार सिलीगुड़ी से जुड़े हो सकते हैं। पुलिस का अनुमान है कि गिरफ्तार किये गये दोनों युवक महज कैरियर हैं जबकि मुख्य किंगपिन अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। उन दोनों को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here