छावनी में तब्दील हुआ लाल किला, अलर्ट पर सुरक्षा एजेंसियां

0
150

कोरोना के संक्रमण के बीच देश में आजादी का पर्व मनाने की तैयार‍ियां पूरी हो चुकी है. इस बार की तैयारी अन्य सालों की तुलना में अलग तरीके से हो रही है. कुर्सियों को दो गज की दूरी पर लगाया गया है. दिल्ली पुलिस सूत्रों के मुताबिक इस बार की वीआईपी लिस्ट भी छोटी रखी गई है. 15 अगस्त के कार्यक्रम में हर साल करीब 10 हजार स्कूली बच्चे शामिल होते थे, लेकिन इस बार उन्हें नहीं बुलाया गया है. स्कूली बच्चों की जगह इस बार 500 एनसीसी कैडेट्स को बुलाया गया है. साथ ही इस बार कोरोना वॉरियर्स को भी आमंत्रित किया गया है.

स्वतंत्रता दिवस आते ही अलगाववादी संगठन भारत विरोधी गतिविधियों को अंजाम देने की फिराक में रहते हैं. इनमें खालिस्तान समर्थक संगठन भी शामिल हैं. ऐसे ही एक संगठन ‘सिख फॉर जस्टिस’ (एसएफजे) के अमेरिका स्थित एक आका गुरपतवंत सिंह पन्नू ने नई दिल्ली के लाल किले पर खालिस्तान का झंडा फहराने वाले सिख को सवा लाख डॉलर (करीब 94 लाख रुपए) देने की बात कही है. इस संगठन की ओर से सोशल मीडिया पर फैलाए जा रहे भारत विरोधी कंटेंट, वीडियो आदि को लेकर खुफिया एजेंसियों ने अलर्ट जारी किया है.

खुफिया एजेंसियों के अलर्ट में कहा गया है कि सिख फॉर जस्टिस के अमेरिका स्थित आका गुरपतवंत सिंह पन्नू ने 14,15 और 16 अगस्त को लाल किले पर खालिस्तान का झंडा फहराने वाले सिख को सवा लाख डालर देने का ऐलान किया है. खुद को एसएफजे का जनरल काउंसल बताने वाले पन्नू ने एक वीडियो भी अपलोड किया है. इंटेलीजेंस ब्यूरो के अलर्ट के बाद लाल किला और अन्य अहम स्थानों पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है.

लाल किला और आसपास के इलाकों में 300 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. वहीं सुरक्षाकर्मियों की तैनाती के लिए मचान बनाए गए हैं. जिस पर खड़े होकर ये निगेहबानी कर सकेंगे. स्वतंत्रता दिवस आयोजन के दौरान सभी गेट पर दिल्ली पुलिस और पैरा मिलिट्री फोर्स के जवान तैनात रहेंगे.

दिल्ली पुलिस ने इस बार भी 15 अगस्त से पहले पड़ोसी राज्यों के साथ कोआर्डिनेशन मीटिंग की. लेकिन इस बार कोरोना की वजह से मीटिंग वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये हुई. इस मीटिंग में नौ राज्यों की पुलिस ने भाग लिया और आतंकियों से जुड़े इनपुट्स साझा किए.

इस मीटिंग में दिल्ली पुलिस के अलावा, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, बिहार, हरियाणा, पंजाब, झारखंड, राजस्थान, जम्मू कश्मीर और चंडीगढ़ के पुलिस अधिकारियों ने हिस्सा लिया. बैठक में आतंकियों के अलावा दिल्ली-एनसीआर इलाके में छिपे शातिर बदमाशों की जानकारी भी साझा की गई.

मीटिंग में 15 अगस्त की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों की वेरिफिकेशन पर भी जोर दिया गया. साथ ही 15 अगस्त के दिन पैराग्लाइडर, ड्रोन और दूसरे फ्लाइंग ऑब्जेक्ट को लेकर पूरी तरह सतर्क रहने को कहा गया है. इसके अलावा पुरानी कार की खरीद फरोख्त में जुटे कारोबारी, गेस्ट हाउस, सायबर कैफे, होटल्स, किरायेदार वेरिफिकेशन पर भी नजर रखने की हिदायत दी गई है.

लाल किले के आसपास एक सिक्योरिटी रिंग बनाई गई है. इसमें एनएसजी के स्नाइपर, एलीट स्वात कमांडो और काइट कैचर्स की टीम को रखा गया है. साथ ही 300 से ज्यादा कैमरे लगाए गए हैं. इसके अलावा करीब 4 हजार सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है. लाल किले के पास पुरानी दिल्ली और नई दिल्ली रेलवे स्टेशन की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है. आतंकी खतरे के मद्देनजर द‍िल्ली-नोएडा बॉर्डर पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम क‍िए गए हैं. जगह-जगह पर वाहनों की चेकिंग हो रही हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here