FACT Interview Question : कुआं को गोल आकार का ही क्यों बनाया जाता हैं ?

0
718

प्रजातंत्र टीवी डेस्क 

आप अपने आस पास बहुत सी चीज़े देखते है। हर चीज़ का अपना आकर और रंग होता है। अगर हम कुवे की बात करे तो हमने बहुत सी फिल्मे और गाओ में कुवा देखा है। इसका आकर हमेशा गोल ही होता है। ऐसा शायद ही कभी देखा होगा कि आपके गांव में बना कुआं गोल की बजाय चोकोर हो। लेकिन क्या कभीं आपने यह सोचा है की आखिर कुवा गोल ही क्यों होता है ? यह सवाल बहुत से लोगो के मन में आता है। शायद कोई ही कोई इस का जवाब जनता होगा। इसलिए आज हम आपको अपने इस पोस्ट में बताएंगे की आखिर क्यों कुवा का अकार गोल होता है।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कुआं यूं ही गोल आकार का नहीं होता है। बल्कि इसके पीछे भी एक वैज्ञानिक कारण होता है। विज्ञानं की वजह से ऐसा किया जाता है और इसे गोलाकार बनाए जाने के काफी फायदे हैं। और इनही फायदों को ध्यान में रखते हुए कुएं को गोल बनाया जाता है।

आपको बता दे, गोल कुएं दूसरे कुओं की तुलना में काफी मजबूत होते हैं। वैसे तो बहुत कम चोकोर कुएं देखने को मिलते है। अगर चकोर कुवे बनते भी है तो वह गोल कुएं के मुकाबले में काफी मजबूत नहीं होंगे। दरअसल, गोल कुएं में कोई भी कोना नहीं होता है। और इस कुवे में हर तरफ से गोल होने की वजह से पानी का प्रेशर भी हर तरफ पड़ता है।
बताते चले गोल कुएं में पानी का प्रेशर हर तरफ बराबर होता है। जबकि अगर कुआं चौकोर बनाएंगे तो उसके भीतर जमा जल भंडार का प्रेशर दीवारों के बजाय उसके चारों कोनों पर पहुंच जाएगा। इसकी वजह से कुआं ज्यादा दिन नहीं चल पाता है। और इसके ढहने का खतरा भी काफी ज्यादा होता है।

इसलिए ऐसे में कुएं को ज्यादा दिन तक चलाने और लंबे समय तक इसका इस्तेमाल करने के लिए इस गोल आकर का बनाया जाता है। बता दें कि जब हम किसी भी तरल पदार्थ को जमा करते हैं तो उसके अंदर का सारा प्रेशर दीवारों पर पड़ता है। जिसमें वो स्टोर किया जाता है। ऐसी स्थिति में गोल कुआं ज्यादा प्रेशर झेल पाता है। जबकि चकोर उसकी क्षमता में बहुत कम परेसुरे को झेल पाता है। इसलिए हर जगह गोल कुवा ही बनाया जाता है। ताके इसका इस्तेमाल लम्बे समय तक किया जा सके।

तो वहीं, गोल कुआं बनाने में भी काफी आसानी होता है। दरअसल, ये कुआं ड्रिल करके बनाया जाता है और अगर आप गोल शेप में ड्रिल करते हैं तो यह काफी आसान होता है। वहीं, चोकोर कुआं खोदने में काफी मुश्किल हो जाती है। और इस वजह से कुएं को गोल शेप में ही ड्रिल किया जाता है। कुएं को गोल बनाने की दूसरी वजह यह भी है कि इससे कई सालों तक कुआं धंसता नहीं है। यह भी प्रेशर की वजह से होता है और गोल कुआं बनाने से मिट्टी के धंसने के चांस बहुत कम हो जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here