मध्यप्रदेश में कांग्रेस को एक और झटका

0
256

नेपानगर से विधायक सुमित्रा कासडेकर ने इस्तीफा दिया, अब खाली सीटों की संख्या 26 हो गई, पहले 23 विधायक पार्टी छोड़कर भाजपा में शामिल हो चुके हैं,

मध्य प्रदेश में होने वाले विधानसभा उपचुनाव से पहले कांग्रेस को एक और झटका लगा है। अब नेपानगर से विधायक सुमित्रा कासडेकर ने विधानसभा सदस्य पद से इस्तीफा दे दिया है। विधानसभा सचिवालय ने भी इस्तीफे की पुष्टि कर दी है। इसी के साथ सदन में कांग्रेस विधायकों की घटकर संख्या 90 हो गई है। राज्य में अब विधानसभा की 26 सीटें खाली हो गई है। इससे पहले पार्टी के 23 विधायक भाजपा का दामन थाम चुके हैं।

यह विधायक पहले छोड़ चुके हैं कांग्रेस
इमरती देवी, राजवर्धन सिंह, रक्षा सरोनिया, महेंद्र सिंह सिसोदिया, ओपीएस भदौरिया, रनवीर जाटव, गोविंद सिंह राजपूत, प्रद्युम्न सिंह तोमर, रघुराज सिंह कंसाना, गिराज दंडोतिया, मुन्नालाल गोयल, जसमंत, मनोट चौधरी, ऐदल सिंह कंसाना, बिसाहूलाल सिंह, प्रभुराम चौधरी, जजपाल सिंह, सुरेश धाकड़, कमलेश जाटव, तुलसी सिलावट, बृजेंद्र सिंह यादव, और हरदीप सिंह कांग्रेस छोड़कर 23 मार्च और पांच दिन पहले कुंवर प्रद्युम्न सिंह लोधी भी भाजपा में आ गए थे।

दो सीटें विधायकों के निधन होने से खाली
मुरैना जिले की जौरा सीट से कांग्रेस विधायक बनवारी लाल शर्मा का 21 दिसंबर 2019 को निधन हो गया था। इसी साल 30 जनवरी को आगर-मालवा से भाजपा विधायक मनोहर ऊंटवाल का भी बीमारी के कारण निधन हो गया।

विधानसभा में स्थिति

  • मध्य प्रदेश विधानसभा में 230 सदस्य हैं।
  • इनमें 22 पहले ही इस्तीफा दे चुके। 2 का निधन हो चुका।
  • 26 सीटें खाली होने से विधानसभा में कुल 204 सदस्य।
  • कांग्रेस के अब 90 विधायक हैं।
  • भाजपा के पास 107 विधायक हैं।
  • 4 निर्दलीय, 2 बसपा और 1 सपा का विधायक।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here