सुशांत केसः सबसे अंत में NCB ने शुरू की थी पूछताछ, सबसे पहले लिया एक्शन

0
268

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) के हवाले की गई थी. बाद में पैसे के लेन-देने की बात सामने आई तो प्रवर्तन निदेशालय (ED) भी जांच में शामिल हो गया. जैसे-जैसे दोनों एजेंसियों की जांच आगे बढी, तभी इस केस में नशे का एंगल आ गया. इसी के चलते नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो यानी NCB भी जांच के मैदान में उतारा गया और एनसीबी ने ही इस मामले में सबसे तेज एक्शन लिया.

नतीजा सामने है, जिस एजेंसी को सबसे अंत में जांच का जिम्मा मिला, जिस एजेंसी ने सबसे आखिरी में संदिग्धों से पूछताछ की. जिसने दो बड़ी एजेंसियों के बाद रिया चक्रवर्ती के घर पर छापेमारी की. उसी एजेंसी ने इस केस में सबसे पहली गिरफ्तारी कर डाली. और वो भी दो अहम लोगों को सबूत की बिनाह पर एक साथ गिरफ्तार किया गया. जिनमें आरोपी नंबर वन कही जाने वाली रिया चक्रवर्ती का भाई शोविक चक्रवर्ती और सुशांत का हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा शामिल है.

एनसीबी ने जब परत दर परत इस मामले की बखिया उधेड़ना शुरू की तो उसके हाथ शोविक और रिया तक जा पहुंचे. शक पुख्ता हो जाने के बाद एनसीबी की टीम ने शुक्रवार को बड़ा एक्शन लिया. सुबह के वक्त रिया चक्रवर्ती के घर पर छापेमारी की कार्रवाई को अंजाम दिया. तीन घंटे तक एनसीबी की टीम ने रिया के घर का चप्पा-चप्पा छान मारा. कोई कोना ऐसा नहीं था, जहां एनसीबी ने सर्च ना की हो. कोई गैजेट और डिवाइस एनसीबी ने नहीं छोड़ा, जिसकी जांच ना की गई हो.

और आखिरकार तीन घंटे की छापेमारी के बाद एनसीबी के अधिकारी रिया के भाई शोविक को अपने साथ ले गए. ठीक ऐसी ही कार्रवाई एनसीबी की टीम ने सुशांत के हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा के घर पर भी अंजाम दी. उसे भी एनसीबी की टीम साथ ले गई. इससे पहले एनसीबी की टीम रिया के घर से शोविक का लैपटॉप और रिया का पुराना मोबाइल भी साथ ले गई. जाने से पहले एनसीबी की टीम ने उस जीप कंपास कार को भी खंगाल डाला, जिसे शोविक चलाता था.

कुल मिलाकर कहा जाए तो इस केस में सबसे तेज कार्रवाई एनसीबी की टीम ने की. मकसद था कि ड्रग्स कनेक्शन में ठोस सबूत हासिल किए जाएं. असल में शोविक का नाम ना सिर्फ रिया की चैट में था, बल्कि ड्रग पेडलर जैद और बासित ने भी पूछताछ के दौरान उसके नाम का खुलासा कर दिया था. उन दोनों के बयान ही शोविक की गिरफ्तारी का पुख्ता आधार बने. इसी तरह सैमुअल मिरांडा ने खुद अपनी करतूत का खुलासा एनसीबी के सामने कर दिया.

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने शुक्रवार को करीब सात घंटे शोविक और सैमुअल से पूछताछ की. फिर उन्हें देर शाम एनडीपीएस एक्ट की धारा 8सी, 28, 29 के तहत गिरफ्तार कर लिया गया. अब एनसीबी का शिकंजा रिया पर कस रहा है. जल्द ही उसे समन भेजा जाएगा. पूछताछ होगी. और बहुत जल्द गिरफ्तारी भी मुमकिन है. लेकिन सबसे अहम सवाल ये है कि सुशांत की मौत के तार भी इसी ड्रग्स रैकेट से जुड़े हैं?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here